Powered by Blogger.

Follow by Email

RSS

बहुरूपिया: मैं लिखना चाहता हूँ एक कविता ............


मैं लिखना चाहता हूँ एक कविता   
ताजा -तरीन ,सर्वथा नवीन
जो,गांडीव की टंकार-ध्वनि की सवारी कसे
और संपूर्ण मिथ्यांचल पर मारण-मंत्र की तरह          
 मंडराती रहे .
.
आगे पढने के लिए क्लिक करें.....
बहुरूपिया: मैं लिखना चाहता हूँ एक कविता ............

  • Digg
  • Del.icio.us
  • StumbleUpon
  • Reddit
  • RSS

0 comments:

Post a Comment